वैलेंटाइन डे स्पेशल- टॉप 10 बॉलीवुड ऑनस्क्रीन कपल

1 . राज कपूर-नरगिस: 1948 से लेकर 1956 तक इस जोड़ी ने 16 फिल्में एक-साथ की, जिनमें से 6 राज की अपनी प्रोडक्शन थीं. ‘श्री 420 ” फिल्म से “प्यार हुआ इकरार हुआ” गाना तो सभी को याद है. कुछ ऐसा ही मिज़ाज असल में भी हुआ था. मगर “मदर इंडिया” के शूट के बाद सुनील दत्त ने नरगिस को अपना बना लिया था, जिससे राज कपूर बहुत रोये भी थे.

2 . अमिताभ बच्चन-रेखा: सबसे इंटिमेट और ख़ूबसूरत कपल में सबसे पहला नाम अमिताभ और रेखा का आता है. जब-जब ये जोड़ी परदे पर आई है, तब-तब इसने हमेशा कहर ढहाई है. हाँ, इनके अफेयर के बारे में… अच्छा जी शांत रहते हैं नहीं तो जया जी नहीं बख्शेंगी।

3 . दिलीप कुमार-वैजन्तीमाला: भले ही दिलीप कुमार और मधुबाला की जोड़ी “मुग़ल-ए-आज़म” में कितनी ख़ूबसूरत क्यों ना हो, असली बाज़ी तो युसूफ साहब की वैजन्तीमाला के साथ वाली जोड़ी मार जाती है. “मधुमती”, “नया दौर” और “पैगाम” जैसी फिल्मों में इन दोनों के बीच का प्रेम वाकई में लाजवाब है.

4 . गुरु दत्त-वहीदा रहमान: “चौदहवीं का चाँद हो..” से लेकर “वक़्त ने किया, क्या हसीन सितम” तक का अपना सफर तय करने वाली इस जोड़ी की असल-ज़िन्दगी किसी फिल्म से कम नहीं, जहां अंत गुरुदत्त की मौत से हुई. मगर परदे पर इनकी केमिस्ट्री बहुत ही इंटिमेट और ख़ूबसूरत आज भी लगती है.

5 . शाहरुख़ खान-काजोल: भले ही इस जोड़ी ने कई फिल्में की हो, मगर दिल तो “दिलवाले दुल्हनिया ले जायेंगे” पर ही आता है. ये बात अलग है कि ये दोनों ने रोहित शेट्टी की “दिलवाले” में भी नज़र आये थे, मगर उसमें दिल तो था ही नहीं. मज़े की बात ये है कि इनकी केमिस्ट्री में भी बहुत ही चुलबुलापन और शरारत महसूस करने को नसीब होती है.

6 . रणवीर सिंह-दीपिका पादुकोण: नहीं हम असली की बात नहीं कर रहे. “बाजीराव मस्तानी” में दीपिका और रणवीर की जोड़ी एक तरीके से सहिष्णुता का बेहतरीन ओहदा पर्दे पर दिखाती है. हाँ, इसके लिए संजय लीला भंसाली को धन्यवाद तो कहना होगा. मगर.. मोहब्बत तो इनकी थी, जिसने हमको दीवाना बना दिया था!

7 . अभिषेक बच्चन- रानी मुख़र्जी: अटकलें बहुत लगी थी कि ये जोड़ी कभी असली बन पाएगी. मगर ऐसा ना हो पाया। ख़ास बात ये है कि इस जोड़ी ने कम फिल्में की हैं (युवा, बंटी और बबली और कभी अलविदा ना कहना), मगर हमेशा ऑनस्क्रीन मैरिड रही है और हर इमोशन को अपनी केमिस्ट्री में बहुत खूबसूरती से पेश किया है.

8 . सैफ अली खान -प्रीति ज़िंटा: जवान, चुलबुल, नटखट और मज़ाकिया. इस जोड़ी ने जब भी परदे पर दस्तक दी है, तब हमेशा प्यार से ज़्यादा तो मस्ती की लहर हमारे दिलों में छायी है. “कल हो ना हो” और “सलाम नमस्ते” इस बात का सबूत है.

9 . आर. माधवन – विद्या बालन: “गुरु” में अभिषेक बच्चन और ऐश्वर्या राय बच्चन को भले ही जनता ने कितना सराहा हो, मगर असली हक़दार माधवन और विद्या की जोड़ी है, जिनकी केमिस्ट्री बहुत ही रिलेटेबल और ख़ूबसूरत दिखती है. फिल्म में विद्या के पास ज़्यादा दिन नहीं होते हैं, मगर फिर भी माधवन उससे शादी करता है और आखिरी सांस तक उसके पास रहता है. वो छोड़िये.. “एयरटेल” के एड्स तो याद हैं?

10 . विक्की कौशल- श्वेता त्रिपाठी: शेरोशायरी से अपना रिश्ता शुरू करने वाली फिल्म “मसान” की ये जोड़ी आज की असली रोमांटिक जोड़ी मानी जाएगी, जहां पिछड़ापन नहीं, बल्कि जहां ख़ुशी और प्यार को आज़ादाना ख्यालों से देखा जाता है.

You may also like...

shares